suvieducation

चालक लोमड़ी की मनोहर हिंदी कहानी

एक बार की बात है, एक लोमड़ी जंगल में घूमती हुई एक कुएँ के पास पहुँची। कुएं के चारों ओर कोई दीवार नहीं थी. लोमड़ी ने ध्यान नहीं दिया और अंदर गिर गया. हालाँकि कुआँ ज्यादा गहरा नहीं था लेकिन फिर भी लोमड़ी बाहर नहीं आ सकी। वह निराश होकर वहीं बैठ गई।

तभी उसने देखा की एक बकरी वहां से गुजर रही थी | लोमड़ी को कुएं में देखकर बकरी ने पूछा, “अरे भाई, तुम अंदर क्या कर रहे हो?”

लोमड़ी ने कहा, “बकरी बहन! तुम नहीं जानती… जल्द ही भयंकर सूखा पड़ने वाला है। यहां किसी और के आने से पहले ही मैं अंदर आ गई।”

कम से कम यहाँ तो पानी है. तुम भी अंदर क्यों नहीं आ जाती हो ?” बकरी को लगा कि लोमड़ी बहुत अच्छी सलाह दे रही है और वह भी कुएं में कूद गई। जैसे ही बकरी कुएं के अंदर पहुंची, लोमड़ी ने छलांग लगा दी और बकरी उसकी पीठ पर चढ़ गई और फिर बाहर आई. उसने बकरी से कहा, “अलविदा बहन, मैं चली ” और लोमड़ी सिर पर पैर रखकर भाग गई. अब बकरी को अपने आप पर बहुत पछतावा हो रहा था |

Charming Hindi Story of Driver Fox

Once upon a time, a fox wandering in the forest reached near a well. There was no wall around the well. The fox did not pay attention and fell inside. Although the well was not very deep, still the fox could not come out. She sat there disappointed.

Then he saw that a goat was passing by. Seeing the fox in the well, the goat asked, “Hey brother, what are you doing inside?”

The fox said, “Goat sister! You don’t know… there is going to be a severe drought soon. I came inside before anyone else came here.”

At least there is water here. Why don’t you also come inside?” The goat thought that the fox was giving very good advice and she also jumped into the well. As soon as the goat reached inside the well, the fox jumped and the goat climbed on its back and Then she came out. She said to the goat, “Goodbye sister, I am leaving” and the fox stepped on her head and ran away. Now the goat was feeling very sorry for itself.

One thought on “चालक लोमड़ी की मनोहर हिंदी कहानी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *