suvieducation

सुन्दर हिंदी मनोहर कहानी लोभी किसान की

एक गांव था गांव में एक किसान रहता था | वो बहुत गरीब था खेत में दिन भर काम करता था और रुखा – सूखा खाकर अपना जीवन यापन करता था | एक दिन की बात हैं वो खेत से काम करके वापस आ रहा था रास्ते में बहुत बड़ा जंगल परता था | जंगल से जब वो गुजर रहा था की तभी उसकी नजर एक मुर्गी पर गई मुर्गी देख के किसान ने सोचा क्यो न इसको पकड़ के घर ले जाया जाए |


किसान ने सोचा कम से कम मुर्गी से अंडा मिलेगा | ये सोचकर किसान ने मुर्गी को पकड़ के अपने घर ले आया | रात में किसान और उसके परिवार हमेशा की तरह रुखा – सूखा खाकर के सो गया और मुर्गी को भी कुछ दाना डाल दिया और सो गया | जब सुबह किसान की आँख खुली तो उसने देखा की मुर्गी ने अंडा दिया हैं वो खुश हो गया लेकिन जैसे ही वो अंडा को देखा तो उसके ख़ुशी का ठिकाना नहीं रहा क्योकि मुर्गी ने सोने का अंडा दिया था | किसान और उसके परिवार ये देख के बहुत खुश हो गया की अब वो गरीब नहीं रहेगा ना ही रुखा – सूखा खाना पड़ेगा | किसान अंडा ले के बाजार गया और अंडे को बेच दिया | अंडे बेचने के बाद उसे बहुत सारा पैसा मिला | वो पैसा ले के घर आया और बहुत सारा खाने का सामान ले के आया | किसान और उसके परिवार ने मिल के अच्छे से खाना खाया और फिर किसान ने मुर्गी के लिए भी फिर से दाना डाल दिया | और सभी लोग सो गए अब किसान मन ही मन सोच रहा था की मुर्गी फिर कल सोने का अंडा देगी ये सोचते हुए किसान मन ही मन बहुत खुश हो रहा था | अगले दिन फिर सुबह में उठते ही किसान मुर्गी के पास गया फिर मुर्गी ने अंडे दिया था वो अंडा भी सोने का था अब तो किसान के ख़ुशी का ठिकाना नहीं रहा |


अब किसान को रोज सोने का अंडा मिल रहा था किसान उसे बेच आता था और ढेर सारा पैसा ले के आता था | अब किसान बहुत अमीर हो गया था | वो अब मजे से अपना जीवन जी रहा था | एक दिन किसान की बीवी ने किसान से बोला की क्यो न हम मुर्गी से एक ही बार सारा अंडा निकाल ले | ये सुन के किसान ने बोला ये कैसे हो सकता हैं किसान की बीवी ने बोला की हम मुर्गी को मर देंगे और उसके पेट से सारे सोने का अंडा निकाल लेंगे | ये बात सुन के किसान के मन में लोभ आ गया उसने सोचा रोज – रोज से अच्छा है की एक ही बार में सारे अंडे निकाल ले | बस फिर क्या था किसान ने मुर्गी को मार दिया लेकिन मुर्गी के पेट में एक भी अंडा नहीं मिला | अब किसान और उसकी बीवी जोर – जोर से रोने लगी ये क्या कर दिया | किसान और उसकी बीवी को अब एहसास हो गया था ज्यादा लोभ नहीं करना चाहिए |

Beautiful Hindi story of a greedy farmer

There was a village. A farmer lived in the village. He was very poor and used to work in the fields all day long and earn his living by eating dry food. Once upon a time, he was returning from farm work. There was a huge forest on the way. When he was passing through the forest, his eyes fell on a hen. Seeing the hen, the farmer thought why not catch it and take it home.

The farmer thought that at least the hen would get an egg. Thinking this, the farmer caught the hen and brought it to his home. At night, the farmer and his family slept as usual after eating dry food and also gave some grains to the hen and went to sleep. When the farmer opened his eyes in the morning, he saw that the hen had laid an egg.

He became happy, but as soon as he saw the egg, his happiness knew no bounds because the hen had laid a golden egg. The farmer and his family became very happy to see that now he will neither be poor nor have to eat rough food. The farmer took the egg to the market and sold it. He got a lot of money after selling eggs.

He returned home with the money and a lot of food items. The farmer and his family had a good meal together and then the farmer again added grain for the hens. And everyone went to sleep. Now the farmer was thinking in his mind that the hen will lay a golden egg again tomorrow. Thinking this, the farmer was feeling very happy in his mind. The next day, as soon as he woke up in the morning, the farmer went to the hen, then the hen laid an egg, that egg was also golden, now the farmer was happy.

Now the farmer was getting a golden egg every day. The farmer used to sell it and bring back a lot of money. Now the farmer had become very rich. He was now living his life happily. One day the farmer’s wife asked the farmer why don’t we take out all the eggs from the hen at once. Hearing this, the farmer said, how can this be possible? The farmer’s wife said that we will kill the hen and take out all the golden eggs from its stomach.

Hearing this, the farmer became greedy and thought that it would be better to take out all the eggs at once rather than every day. Then the farmer killed the hen but not a single egg was found in the hen’s stomach. Now the farmer and his wife started crying loudly, what has he done? The farmer and his wife had now realized that they should not be too greedy.

3 thoughts on “सुन्दर हिंदी मनोहर कहानी लोभी किसान की

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *